उदयपुर। कांग्रेस के चिंतन का आज आखिरी दिन है। कांग्रेस के इस चिंतन शिविर में कांग्रेस नव उदय, नव संकल्प को लेकर चर्चा हुई। राहुल गांधी ने अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस से लोगों को जोड़ने का प्रयास तेज करना होगा, इसे लेकर देशव्यापी यात्रा निकाला जायेगा। राहुल गांधी के बाद अपने संबोधन में पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी को जोड़ने के लिए देश भर में अभियान चलाने की बात कही। सोनिया गांधी ने कहा कि 2 अक्टूबर से नेशनल कन्याकुमारी से कश्मीर भारत जोड़ो यात्रा कांग्रेस निकालेगी। इस यात्रा में सभी कांगेस नेता शामिल होंगे।

सोनिया गांधी ने इस बात पर बल दिया कि बिना रूके काम करने की जरूरत है। हमें सभी को समायोजित करने का एक तरीका खोजना होगा। हम पा्र्टी को बेहतर बनायेंगे। हमलोग हर बाधाओं को पार करेंगे, यही हमारा संकल्प है, यही हमारा नव संकल्प है। इससे पहले आज अंतिम दिन चिंतन शिविव में छह समितियों से मिले सुझावों पर कार्यसमिति ने आज चर्चा की और फैसला लिया कि पार्टी एक पद और एक नियम लागू करेगी। इसे साथ पार्टी सर्वोच्च इकाई ने असंतुष्ट नेताओं की संसदीय बोर्ड को पुनर्जन्म करने की मांग खारिज कर दी। संसदीय बोर्ड के बजाय कांग्रेस ने अब हर राज्य और केंद्र में राजनीतिक मामलों की एक समिति बनाने का फैसला लिया है।

आखिरी दिन आज राहुल गांधी का भी संबोधन हुआ। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के डीएनए में बोलने की आजादी है। कांग्रेस पार्टी के भीतर जिस तरह से बोलने की आजादी है, उतनी आजादी बीजेपी में कभी नहीं है। राहुल गांधी ने कहा कि इसी वजह से कांग्रेस पार्टी का आलोचना भी होती है। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस से टूटे हुए लोगों को जोड़ने की जरूरत है।

Leave a comment

Your email address will not be published.