शिमला। हिमाचल पुलिस भर्ती पेपर लीक की CBI जांच होगी। राज्य सरकार ने इस मामले में जांच के लिए CBI को अनुशंसा भेज दी है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस मामले को लेकर प्रेस कांफ्रेस की और जानकारी दी कि राज्य सरकार इस मामले की निष्पक्ष जांच करना चाहती है, लिहाजा इस मामले को सरकार ने सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि इस मामले में एसआईटी ने भी बेहतर काम किया और 73 लोगों को गिरफ्तार किया है।

प्रकरण में मुख्य आरोपी शिव बहादूर सिंह को एसआईटी ने गिरफ्तार किया है। शिव बहादूर यीपी के वाराणसी से पकड़ा गया है, जबकि दूसरा आरोपी अमन को बिहार से गिरफ्तार किया गया है।
मुख्यमंत्री ने बताया कि मामले में एसआईटी ने आरोपियों से 8.49 लाख की रिकवरी हुई है। पकड़े गये छात्रों से उनके सर्टिफिकेट, कार, 15 मोबाइल और लैपटाप मिले हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने ये भी बताया है कि जब तक सीबीआई जांच शुरू नहीं होती, तब तक जांच एसआईटी करेगी। जांच निष्पक्ष हो, इसलिये जांच को सीबीआई को सौंपने का फैसला किया गया है।


मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने इस बात के संकेत दिये हैं कि पुलिस भर्ती की नयी डेट जल्द ही जारी की जायेगी। आपको बता दें कि कांग्रेस लगातार इस बात की मांग कर रहा था कि इस मामले में सीबीआई से जांच हो, जिसके बाद आज मुख्यमत्री ने इस बात का ऐलान कर दिया।

Leave a comment

Your email address will not be published.