पटना। बिहार में एक और घूसखोर के ठिकानों से कुबेर का खजाना निकला है। अब तक छापेमारी में करोड़ों के जेवहरात, कैश और करोड़ों की प्रापर्टी मिली है। निगरानी विभाग के सूत्रों के मुताबिक जांच में अभी और काफी चौकाने वाले खुलासे हो सकता है। पटना में निगरानी विभाग की विशेष टीम ने शुक्रवार को ग्रामीण विकास विभाग के डिप्टी सचिव शैलेंद्र कुमार भारती के ठिकानों पर छापेमारी की। इस दौरान मिली संपत्ति देख अधिकारी भी हैरान रह गये।

शैलेंद्र कुमार के खिलाफ निगरानी विभआग ने आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज किया है। आरोपी अधिकारी के घर और दफ्तर में अभी भी कार्रवाई चल रही है। स्पेशल विजिलेंस यूनिट के एसपी जेपी मिश्रा के मुताबिक घूसखोर अधिकारी के बंगले से अभी तक तो सिर्फ जेवहरात ही 2 करोड़ से ज्यादा के मिले हैं। वहीं 50 लाख का एक फ्लैट बांका में मिला है, वहीं अलग-अलग बैंकों में 27 लाख डिपाजिट मिले हैं।

शैलेंद्र कुमार भारती ने 2002 से सरकारी नौकरी ज्वाइन की थी। 20 साल की नौकरी में अलग-अलग जगह पोस्टिंग में शैलेंद्र कुमार ने लाखों की संपत्ति जमा की। बैंक दस्तावेजों की चल रही जांच के बाद अभी और भी जानकारी सामने आ सकती है। बिहार में घूस लेने का कोई ये पहला मामला नहीं है, आये दिन कार्रवाई के बावजूद घूसखोरों के हौसले बुलंद हैं। बिहार के सुपौल के त्रिवेणीगंज बीडीओ का घूस लेते हुए एक वीडियो वायरल हुआ था. वीडियो में साफ दिख रहा है कि प्रखंड विकास पदाधिकारी पूर्व मुखिया से घूस ले रही है। पूर्व मुख्यमंत्री सीसीटीवी के बारे में पूछता है तो बीडीओ कहती है कि इसमें कुछ रिकार्ड नहीं होता, इसे सिर्फ डराने के लिए लसाये हैं, आप निश्चिंत रहिये। इस मामले में कलेक्टर ने जांच के आदेश दिये हैं।

कल झारखंड में 1 करोड़ मिले थे घूसखोर रेंजर के ठिकाने से

कल झारखंड में एक घूसखोर रेंजर को रंगे हाथों एसीबी ने पकड़ा था। इस दौरान रेंजर के बंगले में हुई जांच में बेडरूम से 1 करोड़ कैश मिले हैं। रेंजर एक पलंग को जमशेदपुर ले जाने के नाम पर 2500 रूपये घूस ले रहा था। एसीबी को हुई शिकायत के बाद टीम ने छापा मारकर रेंजर को गिरफ्तार कर लिया।  

Leave a comment

Your email address will not be published.