पटना। बिहार में अब STATE TET नहीं होगा। बिहार में शिक्षक बनने के लिए आपको अब सेंट्रल TET यानि CTET पास करना होगा। बिहार सरकार ने इस बारे में आदेश जारी कर दिया है। दरअसल केंद्र सरकार की तरफ से हर साल केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा CTET आयोजित होती है। ऐसी स्थिति में राज्य सरकार की ओर से शिक्षक पात्रता परीक्षा TET को अलग से कराने की सरकार जरूरत महसूस नहीं कर रही है।

शिक्षा निदेशक रवि प्रकाश ने BSEB सचिव को लिखे पत्र में कहा है कि बिहार सरकार अब शिक्षक पात्रता परीक्षा नहीं लेगी। खुद रवि प्रकाश ने इस पत्र को ट्वीट किया है। साफ संकेत है कि अब बिहार सरकार ने फैसला कर लिया है कि अब टीईटी परीक्षा आयोजित नहीं होगी। दरअसल टीईटी को लेकर कुछ अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। हाईकोर्ट ने टीईटी के लिए जिम्मेदार सस्था बिहार विद्यालय परीक्षा समिति को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था। इसके बाद बीएसईबी ने शिक्षा विभाग से मार्गदर्शन मांगा था। इसी तारत्मय में राज्य सरकार की तरफ से शिक्षा विभाग ने BSEB को पत्र लिखकर स्थिति स्पष्ट की है।

पत्र में कहा गया है कि बिहार पंचायत प्रारंभिक विद्यालय प्रारंभिक विद्यालय सेवा में किये गये प्रावधानों के तहत शिक्षक नियुक्ति के लिए निर्धारित अहर्ता में केंद्र या बिहार सरकार द्वारा आयोजित शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण होना जरूरी है। केंद्र सरकार हर साल सीटीईटी परीक्षा आयोजित करती है, ऐसे में राज्य सरकार की ओर से टीईटी आयोजित करने की जरूरत महसूस नहीं हो रही है। भविष्य में विभाग आवश्यकता आधारित शिक्षक पात्रता परीक्षा आयोजित करने पर विचार करेगा।

Join the Conversation

2 Comments

    1. ये अधिकार क्षेत्र सरकार के हाथों में है।

Leave a comment

Your email address will not be published.