सुकमा (छत्तीसगढ़)।बस्तर के सांसद की सुरक्षा में बड़ी चूक हुई है। मुख्यमंत्री के दौरा कार्यक्रम में भाग लेने जा रहे सांसद दीपक बैज को सुकमा जैसे घोर नक्सल प्रभावित जिले में ना तो ROP (ROAD OPENING PARTY) और ना ही फालो पायलट मिली। इधर सुरक्षा में चूक की खबर उजागर होते ही सुरक्षा बलों में हड़कंप मच गया है। वहीं सुकमा के पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार शर्मा ने इस मामले में जांच के निर्देश दिये हैं।

सुरक्षा में चूक की ये बात उस वक्त सामने आयी है, जब मुख्यमंत्री का खुद सुकमा के कोंटा विधानसभा क्षेत्र में दौरा होना है, जहां ना वो संवेदनशील तीन गांवों का दौरा करने वाले हैं, बल्कि रात भी वो सुकमा में ही बिताने वाले हैं। इधर सुरक्षा के संदर्भ में चूक की जो बातें आयी है, उसके मुताबिक मुख्यमंत्री के दौरे से पहले मंगलवार को सांसद दीपक बैज सुकमा जा रहे थे। सुरक्षा मापदंड के मुताबिक उन्हें सुकमा बोर्डर पर जिले की पायलेटिंग गाड़ी और ROP मिलनी थी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

सांसद की सुरक्षा में तैनात पुलिस अफसरों ने जब सुरक्षा नहीं देखी तो तत्काल सुकमा जिले के पुलिस अधिकारियों से संपर्क किया, लेकिन फोन तक रिसीव नहीं किया गया। सांसद के सिक्युरिटी स्टाफ का फोन पुलिस अधिकारियों ने नहीं उठाया तो सांसद ने सीधे सुकमा के एसपी सुनील कुमार शर्मा से संपर्क किया। एसपी ने उन्हें सुरक्षा के संदर्भ में जानकारी दी। साथ ही ये भी आश्वासन दिया कि अगर सुरक्षा में कोई लापरवाही हुई है तो इस संदर्भ में वो जांच करायेंगे।

इधर सांसद की तरफ से बताया जा रहा है कि सुकमा दौरे के मद्देनजर उन्होंने प्रोटोकाल का पालन करते हुए सुकमा एसपी, इंटेलिजेंस और प्रोटोकाल की सूचना संबंधित अधिकारियों को दे दी थी। वो बस्तर के लोहंडीगुड़ा से दंतेवाड़ा होते हुए सुकमा आने वाले थे। दंतेवाड़ा तक तो सांसद को सुरक्षा ठीक ठाक मिली, लेकिन सुकमा में उन्होंने ना तो आरओपी और ना ही फालो पायलट मिला। हालांकि जब वो सुकमा के सर्किंग हाउस पहुंचे तो तुरंत एडिश्नल एसपी और आरआई पहुंचे और उन्होंने सुरक्षा को लेकर पूरी जानकारी दी और सुरक्षा नहीं मिलने पर चूक स्वीकार करते हुए भूल के लिए खेद जताया।

सांसद करेंगे सीएम और DGP से शिकायत

सांसद दीपक बैज को जेड प्लस की सुरक्षा मिली है, लिहाजा उनकी सुरक्षा और भी पुख्ता होनी चाहिये थी, लेकिन सुरक्षा में गंभीर लापरवाही बरती हो गयी। इधर सांसद दीपक बैज ने सुरक्षा की चूक पर कड़ी नाराजगी जतायी है। सांसद दीपक बैज ने कहा है कि इस मामले में मुख्यमंत्री और डीजीपी को चिट्ठी लिखकर वो सुरक्षा में चूक की शिकायत करेंगे। दीपक बैज ने कहा कि बस्तर का पूरा ऐरिया काफी संवेदनशील है, ऐसे में इस तरह की लापरवाही से गंभीर परिणाम हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व में भी ऐसी चूक से झीरम जैसी घटना हो चुकी है। उन्होंने कहा कि बस्तर जैसे इलाके में किसी भी जनप्रतिनिधि के साथ इस तरह की लापरवाही के गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

एसपी बोले- चूक की जांच करायेंगे

इधर इस मामले में सुकमा एसपी एक मीडिया से बात करते हुए बताया कि सुरक्षा के पूरे पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ की 14 बटालियन तैनात की गयी है। कल सिक्यूरिटी स्ट्रेटजी के हिसाब से कुछ बदलाव किये गये थे, जिसे चूक कहा जा रहा है। सुकमा एसपी ने कहा है कि अगर सुरक्षा में चूक हुई है, तो निश्चित ही इस मामले में जांच कार्रवाई की जायेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.