रांची: झारखंड कैबिनेट की अहम बैठक कल होने वाली है। राजनीतिक उथल-पुथल के बीच होने वाली इस बैठक में कई अहम फैसले लिये जा सकते हैं। 50 हजार शिक्षक आचार्य के पदों पर जहां कैबिनेट पर मुहर लगेगी, तो वहीं पुलिसकर्मियों की मांगों पर मुहर लग सकती है। वहीं सूखा प्रभावित इलाकों केलिए भी राज्य सरकार कल कैबिनेट में बड़ा फैसला ले सकती है। पिछले दिनों झारखंड के कुछ हिस्सों में बारिश जरूर हुई है, लेकिन ये बारिश किसानों की मुश्किलों को कम करने वाली नहीं है। लिहाजा आज कैबिनेट की बैठक में सूखा राहत को लेकर कुछ बड़ा निर्णय लिया जा सकता है।
पिछले दिनों राज्य सरकार ने सहायक पुलिस जवानों को एक माह का सेवा विस्तार दिया था। कल की कैबिनेट में उस फैसले को लेकर कैबिनेट की मंजूरी ली जायेगी। वहीं सहायक आरक्षकों के मुद्दे पर राज्य सरकार आज के कैबिनेट में फैसला भी ले सकती है। वहीं पुलिसकर्मियों के क्षतिपूर्ति अवकाश को लेकर भी राज्य सरकार फैसला ले सकती है।

50 हजार शिक्षकों की भर्ती पर भी मुहर

झारखंड राज्य गठन के बाद पहली बार शिक्षकों के 50 हजार पद सृजित होंगे. इनमें 20 हजार प्राथमिक विद्यालय और 30 हजार मध्य विद्यालय के पद शामिल हैं. पद सृजन को कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद आरक्षण रोस्टर क्लियर करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। हालांकि प्राथमिक और मध्य विद्यालयों की बात करें तो वहां शिक्षकों की नियुक्ती को लेकर नियमावली तैयार हो गई है। पद सृजन के बाद प्रथम चरण में 27 हजार शिक्षकों की नियुक्ती की जाएगी। आपको बता दें कि झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा लेने के बाद ही दूसरे चरण की नियुक्ती की जाएगी।


गौरतलब है कि शिक्षकों के जो पद सृजित होंगे उनमें इंटरमीडिएट प्रशिक्षित सहायक आचार्य और स्नातक प्रशिक्षित सहायक आचार्य के पद शामिल हैं। इंटरमीडिएट प्रशिक्षित सहायक आचार्य और स्नातक प्रशिक्षित सहायक आचार्य का वेतन करीब 25,500 निर्धारित किया गया है। निर्धारित अवधि में इन्हें सहायक शिक्षक के पदों पर भी प्रोन्नति मिलेगी आपको बता दें कि बुधवार को राज्य मंत्रिपरिषद की होने वाली बैठक में इसे स्वीकृति मिल सकती है।

Donate to HBPL