इंदौर। इंस्पेक्टर हाकम सिंह सुसाइड केस में गिरफ्तार ASI रंजना खांडे और इंस्पेक्टर की कथित पत्नी को जेल भेज दिया गया है। पिछले महीने इंदौर के पुलिस कंट्रोल रूप में इंस्पेक्टर हाकम सिंह पंवार ने खुद को गोली मार ली थी। इस मामले में जांच राज्य सरकार ने SIT को सौंपी थी। SIT ने अब तक की जांच में इंस्पेक्टर की कथित तीसरी पत्नी रेशमा और ASI रंजना खांडे सहित चार लोगों पर FIR दर्ज की थी। मामले में ASI रंजना खांडे के भाई को भी आरोपी बनाया गया था, जिसकी संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गयी थी।

दरअसल पुलिस कंट्रोल रूम में हुई गोलीकांड को लेकर इंदौर की SIT को जांच सौंपी गयी थी। इस मामले में 2 महिला को गिरफ्तार किया गया है। इनमें एक रेशमा है, जो कथित तौर पर खुद को इंस्पेक्टर हाकम सिंह को पत्नी बता रही है, जबकि दूसरी रंजना खांडे हैं, जो ASI है। खुदकुशी के पहले हाकम सिंह ने रंजना खांडे को भी गोली मारी थी, लेकिन वो बच गयी। SIT को अब तक की जांच में पता चला है कि इंस्पेक्टर हाकम सिंह हनी ट्रैप में फंस गये थे। दोनो महिलाएं इंस्पेक्टर को लगातार ब्लैकमेल कर रही थी। ब्लैकमेलिंग से परेशान होकर इंस्पेक्टर हाकम सिंह ने पहले ASI रंजना को गोली मारी और फिर खुद को गोली मारकर सुसाइड कर ली।

ASI रंजना बता रही खुद को बेगुनाह

रंजना को गिरफ्तारी से पहले इंदौर के अजाक थाने में रखा गया था, जहां रंजना ने अपनी मां के सामने फूट-फूटकर रोना शुरू कर दिया। रंजना ने कहा कि उसे झूठे आरोप में फंसाया गया है, मेरी जमानत की याचिका जल्दी लगा देना। इससे पहले दो बार रंजना की रिमांड एसआईटी ने ली। रिमांड अवधि में पुलिसन रंजना और रेशमा के वाइस सैंपल लिये। दोनों के सैंपल को जांच के लिए लैब भेजा जा रहा है। गिरफ्तारी के रंजना को सस्पेंड कर दिया गया है।

पैसे का हो रहा था लेनदेन

पुलिस ने ASI रंजना के बैंक अकाउंट के स्टेटमेंट निकाले हैं। इसमें रंजना के अकाउंट से टीआई हाकम सिंह के अकाउंट में रूपये ट्रांसफर होने की बात सामने आयी है, लेकिन इससे पहले रंजना के अकाउंट में यह पैसे उसकी मां के अकाउंट से ट्रांसफर हुए थे। पुलिस पैसे के लेनदेन की भी जानकारी को लेकर जानकारी जुटा रही है।

24 जून को खुदकुशी की थी

भोपाल के श्यामला हिल्स में पदस्थ रहे थाना प्रभारी हाकम सिंह पंवार ने 24 जून को कंट्रोल रूम परिसर में एएसआई रंजना खांडे को गोली मारने के बाद खुद को गोली मार ली थी। इस घटना में इस्पेक्टर हाकम सिंह की मौत हो गयी थी, जबकि रंजना बच गयी थी। एसआईटी जांच में पता चला कि चार लोग मिलकर इंस्पेक्टर को प्रताड़ित कर रहे थे। रेशमा, एएसआई रंजना, एएसआई का भाई और एक व्यापारी पर आरोप है कि वो इस्पेक्टर को ब्लैकमेल कर रहा था। इस्पेक्टर से अक्सर पैसों की मांग की जा रही थी. उनकी कुछ तस्वीरें और वीडियो वायरल करने की धमकी दी जा रही थी। इसकी जानकारी परिवार को भी थी।

Leave a comment

Your email address will not be published.