झारखंड : लोहरदगा पहुंचे वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने जिला में एक मेडिकल कॉलेज खोलने की घोषणा की है ।साथ ही कहा है कि एक 100 बेड का अस्पताल के लिए बजट पास हो गया है ।यहां मेडिकल कॉलेज खुलने से छात्र -छात्राएं सदर अस्पताल मरीजों पर शोध कर सकेंगे ।राज सरकार को खूंटी, रामगढ़ और लोहरदगा जिला को मेडिकल हब के रूप में विकसित करना चाहिए, ताकि राज्य में होने वाले मरीजों की भीड़ कम हो।

सदर अस्पताल में डायलिसिस सेंटर का किया उद्घाटन

गुरुवार को सदर अस्पताल स्थित डायलिसिस सेंटर का उद्घाटन वित्त मंत्री और लोहरदगा सांसद सुदर्शन भगत ने संयुक्त रूप से किया। इस मौके पर डायलिसिस सेंटर का उद्घाटन करते हुए वित्त मंत्री ने कहा है कि अब उन मरीजों को काफी सुविधा होगी जो अब तक रांची या अन्य जगहों पर जाकर डायलिसिस कराते थे। जिला में यह मशीन लग जाने से अब मरीज का समय और पैसों की बचत होगी।

वित्त मंत्री डॉ उरांव ने कहा है कि 25 लाख की लागत से डिजिटल एक्सरे मशीन का उद्घाटन शुक्रवार को होगा। कहा कि पहले की मशीनें काफी पुराने हो गई ,है इस कारण नए मशीन को लगाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार लोगों की बेहतर के लिए हर संभव प्रयास में जुटी है।

गरीबों का मुफ्त में होगा डायलिसिस

बता दें कि डायलिसिस सेंटर का संचालन एसकौब संजीवनी प्राइवेट लिमिटेड कोलकाता द्वारा किया जाएगा ।जिसके लिए झारखंड सरकार और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के बीच करार हुआ है।

डॉक्टरों ने डायलिसिस सेंटर का उद्घाटन करते हुए कहा कि डायलिसिस केंद्र में एक बार मैं अधिकतम 5 मरीजों का डायलिसिस किया जा सकेगा। वर्तमान में 2 मरीजों के डायलिसिस की सुविधा है। जिन लोगों के पास आयुष्मान भारत कार्ड है ,गरीबी रेखा के नीचे हैं यह निम्न आय वर्ग वाले हैं उनके परिवार के मरीजों का डायलिसिस निशुल्क होगा। वही सामान्य और सक्षम लोगों के मरीजों के लिए प्रति डायलिसिस का शुल्क 1206 रुपये होगा ।

लोकसभा सांसद सुदर्शन भगत ने कहा है कि केंद्र और राज्य सरकार की प्रयास से यह कार्य सफल हुआ ।इसका फायदा लोगों को मिलेगा। जो गरीब हैं उन्हें निशुल्क डायलिसिस की सुविधा मिलेगी। आने वाले समय में 100 बेड का अस्पताल और मेडिकल कॉलेज का खुलना लोहरदगा जिले के लिए एक बड़ी उपलब्धि होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.