नयी दिल्ली। केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ता को लेकर एक बड़ी खबर है। कर्मचारियों की सैलरी में एक बार फिर बंपर बढ़ोत्तरी होने वाली है। इस बार उन्हें मिलने वाले डीए में 6% की बढ़ोत्तरी होने वाली है, जो हाल के दिनों में कर्मचारियों के डीए में ये सबसे बड़ी बढ़ोत्तरी होगी।

जानकारी के मुताबिक महंगाई भत्ते में अगले महीने बढोत्तरी की मुहर लग सकती है। तीन अगस्त को मोदी कैबिनेट की बैठक प्रस्तावित है। जिसमें महंगाई भत्ता में बढ़ोत्तरी का फैसला लिया जा सकता है। AICPI के ताजा आंकड़ों के मुताबिक महंगाई दर में लगातार उछाल देखने को मिल रहा है। अप्रैल की तुलना में मई में इसके आंकड़ों में 1.3 प्वाइंट की बढोत्तरी हुई है। लिहाजा ये तय है कि इस बार डीए में बंपर में बढोत्तरी होगी और इसकी वजह से कर्मचारियों की सैलरी में बड़ा इजाफा होगा।

मई महीने में AICPI 129 प्वाइंट पर पहुंच गया है और इसके साथ ही यह भी लगभग तय हो गया है कि कर्मचारियों के डीए में इस बार करीब 6 प्रतिशत की बढोत्तरी जरूर होगी। हालांकि AICPI के जून के आंकड़े अभी नहीं आयी है, लेकिन इसमें गिरावट की स्थिति नहीं हैं। बता दें कि इंडेक्स जनवरी में 125.1 प्वाइंट, फरवरी में 125.0, मार्च में 126.0 और अप्रैल में 127.7 प्वाइंट पर था।

अभी केंद्रीय कर्मचारियों की महंगाई भत्ता की बात करें तो कर्मचारियों को 34 प्रतिशत डीए मिलता है, 6 प्रतिशत की बढोत्तरी के बाद ये आंकड़ा 40 प्रतिशत पर पहुंच जायेगा। सरकार के इस फैसले से लाखों कर्मचारियों और पेंशनर्स को लाभ होगा। ये नियम है कि केंद्र जब भी डीए बढ़ाती है तो राज्य सरकारें उसका अनुशरण करती है, लिहाजा केंद्र सरकार के ऐलान के बाद राज्य सरकार भी महंगाई भत्ता की बढ़ोत्तरी का ऐलान करेगी। इस घोषणा से राज्य के कर्मचारियों की भी सैलरी में काफी बढोत्तरी होगी।

7वें वेतनमान के नियम के मुताबिक सरकार दो बार महंगाई भत्ता का लाभ देती है। जनवरी और जुलाई में पहले केंद्र सरकार महंगाई का आकलन कर महंगाई भत्ता में बढोत्तरी करती है और फिर राज्य सरकार भी केंद्र से उस बढोत्तरी आदेश को अपने राज्यों में भी कर्मचारियों केलिए लागू करती है।

     कितनी बढ़ जायेगी सैलरी

कई सारे कर्मचारियों के मन ये सवाल होता है कि

डीए की बढोत्तरी के बाद उनकी सैलरी में कितना इजाफा होता है। तो आइये एक आंकड़े से समझते हैं। अगर किसी केंद्रीय कर्मचारी की अभी सैलरी 56,900 रुपये हैं। उन्हें 34 प्रतिशत की दर से 19,346 रूपये महंगाई भत्ता मिलता है, लेकिन यही डीए अगर उनका 40 प्रतिशत हो जाता है तो उन्हें 22,760 रूपये महंगाई भत्ता मिलेगा। मतलब उन्हें 3414 रूपये फायदा होगा। साल भर में उनकी सैलरी 40,968 रूपये बढ़ेगी।
वहीं अगर किसी कर्मचारी की 18 हजार मूल वेतन है, तो उन्हें 6,120 रूपये महंगाई भत्ता मिलता है, लेकिन अगर 6 प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ता है तो ये डीए बढ़कर 7200 रुपये मिलने लगेगा। मतलब हर महीने करीब 1080 रूपये फायदा होगा और साल भर की बात करें तो 12,960 रूपये की बढोत्तरी होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.