हजारीबाग। विधायक अंबा प्रसाद ने चट्टी बरियातु कोल परियोजना के भू अधिग्रहण में गड़बड़ी मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है। विधायक ने पत्र लिखकर कहा है कि एनटीपीसी की तरफ से चट्टी बरियातु कोल परियोजना के जमीन का जो अधिग्रहण किया जा रहा है, उसमें 2013 अधिग्रहण क़ानून को लागू ना कर गलत संकल्प का हवाला देकर अधिग्रहण किया जा रहा है। अंबा प्रसाद ने विरोध जताते हुए लिखा है कि जो भी ग्रामीण इसका विरोध कर रहा है, उसके खिलाफ मामला दर्ज कराया जा रहा है।

पत्र में विधायक अंबा प्रसाद ने लिखा है कि बरियातु कोयला खनन परियोजना में एनटीपीसी की तरफ से खनन के लिए को ब्लाक आवंटन हुआ है। इस मामले में जो जमीन का अधिग्रहण किया गया, उससे जमीन मालिक काफी आक्रोशित हैं। इस मामले में जब ग्रामीणों ने एनटीपीसी प्रबंधन से आपत्ति दर्ज करायी, तो उनके खिलाफ मामला दर्ज कर दिया गया। इस मामले को लेकर ग्रामीण सरकार और स्थानीय विधायकों से काफी नाराज हैं।
विधायक अंबा प्रसाद ने ग्रामीणों की मांगों का जिक्र करते हुए लिखा है कि..

•2013 कानून लागू करने
• CCL के मुआवजा एवं नौकरी
• ग्रामीणों को न पहा ।
• गैरमजरूआ भूमि को रेवती मान्यता
• कंपनी द्वारा एवं दबाव बनाने हेतु फर्जी मुकदमा पर रोक
• रोजगार में स्थानीय को प्राथमिकता आदि

पत्र में विधायक ने लिखा है कि मांगो को लेकर कोई पहल या बात नहीं होने की परिस्थिति में जमीन मालिक मुआवजा और रोजगार को लेकर लामबंद हो गये हैं। इस मामले में धरना प्रदर्शन के लिए ग्रामीणों द्वारा दिनांक 24.12.2022 को ग्राम सभा कर अपने मांगों को लेकर प्रखंड जिला वि मुख्यालय को ग्राम सभा की प्रति भी दी है। विधायक ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि विस्थापन को लेकर स्थानीय ग्रामीण रैयत के पक्ष में निर्णय लिया जाये।