नयी दिल्ली। सेना की नयी भर्ती अग्निपथ को लेकर देश भर में चल रहे बवाल के बीच मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। अग्निपथ योजना के खिलाफ दायर याचिका पर सनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट राजी हो गया है। अगले सप्ताह अब इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी।

आपको बता दें कि अग्निपथ योजना को लेकर बिहार, यूपी, मध्यप्रदेश, हरियाणा समेत कई अन्य राज्यों में युवाओं ने बवाल किया था। इस मामले में केंद्र सरकार को राजनीति आक्रोश का भी सामना करना पड़ रहा है। कांग्रेस ने इस मामले में दिल्ली सहित अलग-अलग राज्यों में प्रदर्शन भी हो रहा है।

अग्निपथ योजना को चुनौती देने वाली याचिका को सोमवार को सुप्रीम कोर्ट के सामने रखा गया है। याचिकाकर्ताओं के वकील ने कहा कि अग्निपथ योजना में भर्ती की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। उसकी ओर से कहा गया है कि कई छात्रों का भविष्य दांव पर है। विशेष रूप से वायु सेना की तैयारी कर रहे युवाओं की। वकील ने कहा कि 2017 से 70 हजार से अधिक छात्रों को ट्रेनिंग दी गयी। ट्रेनिंग के बाद छात्रों के बाद छात्रों का आश्वासन दिया गया कि नियुक्ति पत्र राजी किया जायेगा। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की बेंच सुनवाई के लिए राजी हो गया। बेंच ने कहा कि याचिका को अगले सप्ताह सुनवाई के लिए सूचीबद्ध करें।  

पिछले दिनों बिहार, तेलंगाना में अग्निपथ मामले में हिंसा भड़की थी, जिसके बाद कई राज्यों में ट्रेनों में आग लगा दी गयी थी, और तोड़फोड़ की गयी थी।आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने सेना में भर्ती नयी स्कीम लांच किया है। जिसके तहत चार साल के लिए सेना में अब भर्तियां होगी। इस भर्ती स्कीम का पूरे देश में युवा विरोध कर रहे हैं। कांग्रेस ने इस स्कीम का तीखा विरोध जताने का राष्ट्रीय स्तर पर ऐलान कर दिया है। अब मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचने के बाद हर किसी की नजर कोर्ट पर टिकी है, कि कोर्ट का क्या रूख इस मामले सामने आता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.