पटना। बिहार की राजनीति एक बार फिर गरम है। ओवैसी की पार्टी AIMIM के पांच में से चार विधायक पार्टी छोड़कर भाग गये हैं। चारों विधायक अब AIMIM छोड़कर राष्ट्रीय जनता दल में शामिल हो गये हैं। इस दलबदल के बाद अब राष्ट्रीय जनता दल बिहार की सबसे बड़ी पार्टी बन गयी है। इधर इनसब के बीच बिहार की राजनीति गरम हो गयी है।

चार विधायकों के साथ आने के बाद राजद के विधायकों की संख्या बढ़कर अब 80 हो गयी है। भाजपा के पास विधायकों की संख्या 77 है। अब तक यह डर था कि महाराष्ट्र वाली स्थिति बिहार में ना हो जाये। भाजपा कोई नया खेल तो नहीं खेलने वाले। पिछले दिनों ये खबर आयी थी कि बिहार में बीजेपी और जेडीयू के रिश्ते कुछ अच्छे नहीं चल रहे हैं।

ऐसी स्थिति में अब भाजपा को भी सोच समझकर कदम उठाना होगा। क्योंकि अगर नीतीश सरकार गिरने की स्थिति होती है, तो राजद को राज्यपाल को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करना होगा। इससे पहले भाजपा ने वीआईपी पार्टी के तीन विधायकों को अपने खेमे मे मिलाकर सबसे बड़ी पार्टी बनी थी, लेकिन अब राजद ने 80 का आंकड़ा जुटाकर बीजेपी के लिए भी नया समीकरण खड़ा कर दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.