पटना नेशनल मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम (पुरानी पेंशन की बहाली हेतु प्रतिबद्ध राष्ट्रीय संगठन) बिहार के द्वारा दिनांक 1 सितंबर 2022 को राज्य में नई पेंशन योजना लागू होने के दिन को काला दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है और इसकी तैयारी की जानकारी प्रेस वार्ता में दी गई। प्रेस वार्ता में NMOPS के पदाधिकारी के साथ साथ विभिन्न संगठन के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

प्रदेश अध्यक्ष वरुण पांडेय ने कहा

1 सितंबर को ब्लैक डे के रूप में मनाने के लिए पूरे प्रदेश भर के सभी अधिकारी/ कर्मचारी एकजुट है।
मालूम हो कि बिहार प्रशासनिक सेवा संघ सहित लगभग 40 सेवा संघों द्वारा एनएमओपीएस के इस कार्यक्रम में सहमति व्यक्त की गई है और अपने संघ के पदाधिकारियों/ कर्मचारियों को 1 सितंबर के कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने का अनुरोध किया गया है। जिसका सभी ने समर्थन किया है।साथ ही पत्र के माध्यम से समर्थन NMOPS वीके पदाधिकार को दिया है।

40 संगठन का मिल चुका है समर्थन

मुख्य रूप से जिन सेवा संघ का समर्थन एनएमओपीएस (NMOPS) को प्राप्त हो चुका है उनमें बिहार प्रशासनिक सेवा संघ, बिहार सचिवालय सेवा संघ, बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ (गोप गुट), बिहार नगर सेवा संघ, बिहार राजस्व सेवा संघ, बिहार अभियंत्रण सेवा संघ, अवर अभियंता सेवा संघ, बिहार कारा कर्मचारी संघ, बिहार सांख्यिकी सेवा संघ, विभिन्न शिक्षक संघ, बिहार स्टेट इलेक्ट्रिसिटी एम्पलाइज एसोसिएशन, बिहार स्वास्थ्य सेवा संघ, बिहार पशु चिकित्सा सेवा संघ, बिहार स्टेट सिविल कोर्ट एम्पलाई एसोसिएशन, बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन, बिहार पुलिस एसोसिएशन, बिहार पुलिस चतुर्थवर्गीय कर्मचारी संघ, बिहार सहकारिता प्रसार पदाधिकारी सेवा संघ, बिहार राज्य भूमि एवं बंदोबस्त संबंधित कर्मचारी संघ, बिहार सांख्यिकी सेवा संघ, बिहार सहकारी अंकेक्षण पदाधिकारी संघ, बिहार राज्य सरकारी मोटर यान चालक संघ, बिहार डेंटल हेल्थ सर्विस एसोसिएशन, बिहार प्राथमिक शिक्षक सेवा संघ ,बिहार राज्य औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान कर्मचारी संघ,बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी संघ पटना, बिहार राज्य कारा कर्मचारी संघ (लिपिक संवर्ग) है।
इन संगठन का मिला समर्थन

प्रेस वार्ता में बताया गया कि 1 सितंबर को ब्लैक डे एनपीएस से आच्छादित समस्त राज्य कर्मियों अपने कार्यस्थल पर ही काला फीता लगाते हुए एनपीएस (न्यू पेंशन स्कीम) का विरोध करेंगे। प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव तिवारी द्वारा एनपीएस से आच्छादित सभी कर्मियों से पूरी तरह अनुशासित रहते हुए इस प्रतीकात्मक विरोध में अपनी उपस्थिति दर्ज करने का अनुरोध किया गया।

समर्थन देने वाले संगठन का नाम

बैठक में संरक्षक प्रेमचंद सिन्हा, प्रदेश अध्यक्ष वरुण पांडेय, प्रदेश महासचिव शशि भूषण कुमार, वरिष्ठ उपाध्यक्ष अनिरुद्ध प्रसाद, प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव तिवारी एवम् मनोज यादव उपमहासचिव सज्जन जी झा, मुख्य प्रवक्ता संतोष कुमार, संगठन सचिव, दिलीप कुमार एवम् कौशिक कुमार, विधि सलाहकार शंकर प्रसाद सिंह, प्रदेश मीडिया टीम, राकेश कुमार एवम् हलवंत सिंह, पटना जिला सचिव राजेश भगत एवं संगठन के अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

प्रेस वार्ता में जानकारी देते पदाधिकारी

Leave a comment

Your email address will not be published.