रांची। झारखंड में सियाकी तूफान के बीच झारखंड मुक्ति मोर्चा ने ये कहकर सियासी हलचल तेज कर दी है कि भाजपा के कई विधायक झामुमो के संपर्क में है। महागठबंधन विधायक दल की बैठक के बाद झामुमो कोर समिति सदस्य सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि सरकार को कोई खतरा नहीं है और भाजपा के 16 विधायक हमारे सम्पर्क में है। बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए भट्टाचार्य ने तो यहां तक कह दिया कि भाजपा के विधायक फोन के जरिये लगातार संपर्क में हैं और अब वो बैठक के बाद भाजपा के विधायकों से मिलेंगे भी। इस दावे के बाद सियासी गलियारों में तरह तरह की चर्चाएं शुरू हो गयी है।

सुप्रियो ने कहा कि आज की बैठक भाजपा की गिदड़भबकी का जवाब था। उन्होंने निशिकांत दुबे के उस ट्वीट पर भी तंज कसा जिसमें निशिकांत दुबे ने दावा किया था कि तीन बसें तैयार है, जिसमें यूपीए के विधायकों को बाहर ले जाया जा सकता है।

वरिष्ठ मंत्री आलमगीर आलम ने भी कहा है कि सभी विधायक एकसाथ मजबूती के साथ खड़े हैं। सभी विधायकों पर पूरा भरोसा है। उन्होंने कहा कि सारे विधायक यहां हैं तीन विधायक निलंबित हैं कोलकाता में हैं, अगर जरूरत हुई तो उन्हें भी सामने ले आएंगे। बैठक को लेकर उन्होंने कहा कि नोटिस आएगा तभी विचार विमर्श किया जाएगा. वहीं मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि हमारा गठबंधन पूरी मजबूती के साथ खड़ा, हम लोग लड़ेंगे ना झुके हैं ना झुकेंगे. निशिकांत दुबे के ट्वीट पर उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि हम धरती पुत्र हैं झारखंड में ही रहेंगे। हमको कोई अगवा कर लेगा क्या।

Donate to HBPL