रांची। झारखंड से एक बड़ी खबर आ रही है। 24 घंटे में वज्रपात से 11 लोगों की मौत हो गयी है। वहीं 25 से ज्यादा लोग झुलस गये हैं। दुमका और धनबाद के अलग-अलग हिस्सों में वज्रपात की खबरें आयी है। बीते चौबीस घंटे में पलामू में तीन, धनबाद में दो और रामगढ़, चांडिल, मांडर में एक-एक व्यक्तियों को मिलाकर कुल आठ लोगों की मौत हो चुकी थी. इस तरह बीते 24 घंटे में झारखंड में वज्रपात से कुल 11 लोगों की जान जा चुकी है, जबकि हादसे में 25 से अधिक लोग झुलस चुके हैं।

दुमका के जरमुंडी थाना क्षेत्र के तिलवरिया गांव में सोमवार को वज्रपात हो गया। इस दौरान दानीनाथ मंदिर से पूजा कर लौट रही गांव के ही रहने वाले रवि मिस्त्री की पत्नी कैकेयी देवी चपेट में आ गईं। इस हादसे में कैकेयी देवी की मौत हो गई। धनबाद के आमझर पंचायत के परघा में प्राचीन राजवाड़ी मंदिर में महिलाएं पूजा के लिए पहुंची थीं। इस दौरान हो रही बारिश के बीच शिव मंदिर परिसर में वज्रपात हो गए, जिसकी चपेट में आकर महिलाएं और बच्चे झुलस गए।

सभी को बलियापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया. वहीं इनमें से कई लोगों को SNMMCH में भर्ती कराया गया है. हादसे में पांच लोग झुलए गए इनमें से पांच लोगों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

2022 में 27 जुलाई से पहले तक 57 लोगों की जान अलग-अलग जिलों में वज्रपात की वजह से जा चुकी है। पिछले 24 घंटे में मरने वाले 9 लोगों की संख्या इसमें जोड़ दें तो वर्ष 2022 में अब तक झारखंड में वज्रपात से मरने वालों की संख्या 66 से अधिक हो चुकी है।

Leave a comment

Your email address will not be published.