नयी दिल्ली: बेरोजगारों की लंबी होती लिस्ट के बावजूद नयी भर्तियां नहीं हो रही है। ना तो राज्य सरकार और ना ही केंद्र सरकार खादी पड़े पदों को भरने में दिलचस्पी दिखा रही है। ये बात अलग है कि केंद्र और राज्य दोनों दावे जरूर करता है कि युवाओं के लिए नयी भर्तियां जल्दी शुरू होगी। इन सबके बीच केंद्र सरकार ने मानसून सत्र में एक सवाल के जवाब बताया है कि केंद्र में करीब 10 लाख पद खाली पड़े हैं। बुधवार को एक सवाल के लिखित जवाब में केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने बताया कि अलग-अलग विभागों में 9.79 पद खाली हैं, जबकि कुल स्वीकृत पदों की संख्या 40.35 लाख है।

अलग-अलग विभाग और मंत्रालयों में पिछले एक मार्च की स्थिति में 40 लाख 35 हजार 203 पद स्वीकृत थे, जिसमें से अभी 30 लाख 55 हजार 876 पद अभी खाली है। केंद्र सरकार में पदों का सृजन और भरना संबंधित विभागों की जिम्मेदारी है। ये एक सतत प्रक्रिया है, जो लगातार चलती रहेगी। आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले महीने ऐलान किया किया था कि 18 महीने में सरकार 10 लाख से ज्यादा लोगों को नौकरी लेगी।

केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा है कि रोजगार और प्रशिक्षण महानिदेशालय, श्रम मंत्रालय की तरफ से लायी गयी केंद सरकार की जनगणना के मुताबिक मंत्रालय और विभागों में कुल स्थायी कर्मचारियों की संख्या 30 लाख 87 हजार 278 थी। जिसमें से 37 हजार 439 महिलाएं थी। रेलवे में 2.94 लाख, रक्षा मंत्रालय में 2.64 लाख, गृह मंत्रालय में 1.4 लाख, डाक विभाग में 90 हजार और राजस्व विभाग में 80 हजार पद खाली पड़े हैं।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...