वाराणसी 16 मई 2022। ज्ञानवापी मस्जिद में शिवलिंग मिलने का दावा किया जा रहा है। सर्वे के तीसरे दिन हिंदू पक्ष के लोगों ने दावा किया कि मस्जिद में शिवलिंग मिला है। ये शिवलिंग उम्मीद से कहीं ज्यादा बढ़ा है। खबर है कि ज्ञानवापी मंदिर में सर्वे का काम खत्म हो गया है। सर्वे टीम ने मूर्ति के पास कुएं की पड़ताल की है। हिंदू पक्ष के वकील विष्णु जैन का दावा किया है कि कुएं शिवलिंग मिला और कब्जे में लेने के लिए सिविल कोर्ट जा रहे हैं। हालांकि हिंदू पक्ष के दावे को मुस्लिम पक्ष ने खारिज कर दिया ।

हिंदू पक्ष ने ये भी दावा किया कि वजूखाने का पानी निकाला गया, तो सभी झूम उठे, क्योंकि वहीं 12.8 फीट व्यास का शिवलिंग था। पानी हटते ही विशाल शिवलिंग सामने प्रकट हो गया है। नंदी की मूर्ति के ठीक सामने मिले शिवलिंग का व्यास 12 फीट 8 इंच है। इसकी गहराई भी काफी है। हिंदू पक्षकार का दावा है कि उम्मीद से ज्यादा प्रमाण मिले हैं।

इधर कोर्ट ने वाराणसी कलेक्टर के निर्देश दिया है कि जहां भी शिवलिंग मिला है, उस स्थान को तत्काल सील किया जाये। वहां किसी भी अन्य व्यक्ति को जाने की इजाजत नहीं दी जाये। शिवलिंग वाले क्षेत्र की जिम्मेदारी जिला प्रशासन और सीआरपीएफ को दी गयी है। इधर काशी के डीएम ने इस मामले में कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया है। ज्ञानवापी में शिवलिंग मिलने का मामला कोर्ट पहुंच गयाहै। हिंदू पक्ष के दावे के बाद सिविल कोर्ट ने आर्डर पास किया है। आदेश में शिवलिंग के आसपास जाने पर रोक लगा दी गयी है।

सर्वे के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद के तहखाने से लेकर गुंबद और पश्चिमी दीवारों की वीडियोग्राफी हुई, अब यह सबूत कोर्ट के सामने पेश किया जायेगा। सर्वे के दौरान मस्जिद के सभी सभी चार तहखानों को खुलवाया गया। हिंदू पक्षकोरों का दावा है कि तीन कमरों में सर्प, कलश, घंटियां, स्वास्तिक, संस्कृत के श्लोक, स्वान की मूर्तियां मिली है। इसके लिए सबसे अहम सबूत है। वहीं हिंदू मंदिरों के खंभे भी मिले हैं। 17 मई को इस मामले में कोर्ट कमिश्नर अपनी रिपोर्ट कोर्ट में देंगे और फिर साफ होगा कि ज्ञानवापी का सच क्या है।

Leave a comment

Your email address will not be published.