रांची। यूं तो जनता दरबार में फरियाद लेकर गरीब-मजबूर और आमलोग ही पहुंचते हैं, लेकिन गुरुवार को लोग उस वक्त हक्के-बक्के रह गये, जब झारखंड सरकार के जनता दरबार में भाजपा के एक विधायक फरियाद लेकर पहुंच गये। झारखंड सरकार के जनता दरबार में बिहार के पीरपैंती से भाजपा विधायक ललन कुमार को देख हर कोई हैरान रह गया। इसी वर्ष जून महीने में झारखंड सरकार द्वारा विधायक के शेल्टर हाउस पर बुल्डोजर चलाया गया था। जमीन मामले से जुड़े प्रकरण में राहत मांगने विधायक पहुंचे थे।

दरअसल गोड्डा जिले में जनता दरबार का आयोजन हुआ था। विधायक पिछले कई महीनों से जमीन मामलों में परेशान हैं। विधायक ने बताया कि वो इस मामले में राहत की उम्मीद लेकर वो वहां पहुंचे। कार्यक्रम में उपस्थित डीसी को इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने फौरन आवेदन लिया. आवेदन को अधिकारियों को दिया गया कि इसे देखा जाए।

बता दें कि पूरा मामला विधायक ललन पासवान की मां के नाम से बंदोबस्त की गयी जमीन से जुड़े रास्ते का है जिसपर विवाद चल रहा है। यह एरिया बिहार और झारखंड की सीमा पर भागलपुर जिले के बाराहाट के पास है. जून महीने में गोड्डा (झारखंड) जिले के मेहरमा के सीओ की मौजूदगी में बुल्डोजर से आवास के बगल में बना सेल्टर हाउस ढाहा गया था।  इस कार्रवाई को विधायक ने गलत बताया था।

जनता दरबार में जो आवेदन लेकर गये उसमें विधायक की मां कुलेश्वरी देवी की ओर से जमीन का जिक्र करते हुए लिखा गया है कि अंचल अधिकारी के पत्र के आलोक में उनके द्वारा एक कट्ठा छह धुर जमीन खाली कर दिया गया था। आयुक्त, संथाल परगना के आदेश के आलोक में फिर ये जमीन उन्हें वापस मिल गयी थी। पत्र में निवेदन किया गया है कि जमाबंदी में सुधार करते हुए चार कट्ठा छह धुर जमीन अंकित किया जाए और इसके अनुसार मालगुजारी रशीद निर्गत किया जाए. आवेदक ने उस 1 कट्ठा 6 धुर जमीन पर दखल कब्जा दिलाने का भी निवेदन किया है.

Leave a comment

Your email address will not be published.